Connect with us

Gonda

जिला पंचायत अध्यक्ष व ब्लॉक प्रमुख पद के लिए पार्टियों में घमासान तेज

Published

on

समाजसेवी कवि प्रमोद यादव "रंजन"

विजय हांसिल करने के लिए सभी दलोंं ने गुणा भाग किया शुरू

गोण्डा (रमेश पाण्डेय)। पंचायत चुनाव सम्पन्न हो चुके हैं और अब गांवों में नई सरकारों के गठन की तैयारी जोर-शोर से हो रही है। तो वहीं जिला पंचायत अध्यक्ष व  ब्लॉक प्रमुख के चुनाव के लिए सभी दलों ने अपना गुणा भाग शुरू कर दिया है। सभी दलों के दावेदारों ने भी अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिए साम दाम दंड भेद सभी तरह की चाल चलने शुरु कर दिए हैं।सत्ता हासिल करने के लिए दिन रात मेहनत कर रहे हैं। जनपद के सोलह ब्लाकों के प्रमुख पद के दावेदारों ने अपना-अपना हिसाब बैठाना शुरु कर दिया है। विजयी क्षेत्र पंचायत सदस्यों से निरंतर सम्पर्क साधा जा रहा है वहीं जिला अध्यक्ष पद के लिए अपनी दावेदारी पेश करने के लिए जिला पंचायतों सदस्यों से भी प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से संपर्क किया जा रहा है। गौरतलब है जनपद गोण्डा में इस बार सीधी लड़ाई सपा और भाजपा समर्थित प्रत्याशियों के बीच होनी तय मानी जाती है। जहाँ भाजपा से दावेदारी पेश करने वाले भावी प्रत्याशी सदस्य क्षेत्र पंचायतों से लगातार सम्पर्क साधकर अपने पक्ष में मतदान व समर्थन करने के लिए पूरी मजबूती के साथ पैरवी करने में जुटे हैं वहीं दूसरी ओर सपा के भावी प्रत्याशी अभी आत्म मंथन करते नजर आ रहे हैं। कहीं न कहीं सत्ता की हनक से वे प्रभावित दिख रहे हैं। सपा के भावी प्रत्याशी जहाँ सोशल मीडिया पर स्वयं की दावेदारी पेश कर रहे हैं वहीं बीजेपी के दावेदार सीधे सम्पर्क साधने में विश्वास दिखा रहे हैं। धन-बल का चुनाव माने जाने वाले इस चुनाव में जीत का सेहरा आखिर किस व्यक्ति के सिर चढ़ता है, ये समय बताएगा। हालांकि लोगों का मानना है जिसकी रणनीति सबसे अच्छी होगी जो प्रत्याशियों के संपर्क में रहा होगा साथ ही सर्वाधिक धन खर्च करने में सक्षम होगा उसी की विजय निश्चित है। सिर्फ बातें बनाने से या वादे गिनाने से ये चुनाव कतई नहीं जीता जा सकता है, इस बात का इतिहास गवाह है। सपा के सिपाही इस दौड़ में अभी काफी पीछे नजर आ रहे हैं,वहीं दूसरी ओर भाजपा अपनी पकड़ ढीली नहीं करना चाहती है। भाजपा निरंतर सदस्य क्षेत्र पंचायतों और सदस्य जिला पंचायतों को अपने खेमे में लाने के लिए कोई कोर कसर नहीं छोड़ रही है। जो आगामी विधानसभा के चुनाव में अहम रोल माना जा रहा। इन पदों को कोई भी पार्टी अपने हाथ से यूं ही जाने नहीं देगी। हालांकि सपा के कद्दावर नेता पंडित सिंह के निधन से उनके बेटे सूरज सिंह को जनपद वासियों की सहानुभूति जरूर मिलेगी। फिर भी समाजवादी पार्टी को गोण्डा में इस दौड़ को पार करने में ऐड़ी चोटी का जोर लगाना पड़ेगा। भाजपा के समर्थक अपने प्रत्याशियों की जीत सुनिश्चित करने के लिए जहां तन मन धन से दृढ़ प्रतिज्ञ होकर मैदान संभाल रहे हैं वहीं सपा सिपाही अभी तक अस मंजस में दिख रहे हैं । चुनाव को लेकर अभी तक एक ही बयान सुनने को मिला है कि कोई न कोई लड़ेगा जरूर पर कौन आ रहा है मैदान में इस बात का फैसला अभी तक नहीं हो पाया है। वहीं समाजवादी पार्टी समर्थक अपने भावी प्रत्याशी का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं लेकिन हर दिन उन्हें निराशा ही हाथ लगती दिख है। इसी उठा पटक व असमंजस का फायदा उठाकर भाजपा समर्थक ज्यादा से ज्यादा क्षेत्र पंचायत सदस्यों व जिला पंचायत सदस्यों को अपने पक्ष में करते नजर आ रहे हैं। 2022 के चुनाव की बात करें तो सपा सरकार की काफी संभावनाएं बनती दिख रही हैं, फिर भी समाजवादी चिंतकों को जमीनी मेहनत से हटना नहीं चाहिए। हालांकि भाजपा हो या सपा जीत उसी की सुनिश्चित होगी जो सबके मान सम्मान को बनाये रखने में सहयोग करेगा। चुनावी बैतरणी से अगर पार पाना है तो अपनी चुनावी रणनीति पर विशेष ध्यान देना होगा जिसमें पार्टी के खेवनहार की अहम भूमिका होगी।

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Gonda

गणतंत्र दिवस पर नौनिहालों ने प्रस्तुत किया रंगारंग कार्यक्रम

Published

on

By

करनैलगंज (गोण्डा)। गणतंत्र दिवस के अवसर पर नगर के मोहल्ला गाड़ी बाजार में स्थित तामीरे हयात स्कूल में ध्वजारोहण के उपरान्त विद्यालय प्रांगण में असीर अहमद सिद्दिक़ी की अध्यक्षता में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसका संचालन अब्दुल्ला आबिद ने किया। कार्यक्रम में प्रत्येक कक्षा के नन्हें मुन्हें छात्र-छात्राओं द्वारा देशगीत,भाषण, एक्शन प्रोग्राम, नाटकीय कार्यक्रम के माध्यम से अपनी प्रतिभा का अभिनय प्रस्तुत किया गया। कार्यक्रम संयोजक उजमा फातमी, नूरीन फातमी, मिशकात फातमी द्वारा तैयार कराये गये सांस्कृतिक कार्यक्रमों को छात्र अंश जायसवाल, हुमैद अन्सारी, अक्षय कुमार, अब्दुर्रहमान, मो० उस्मान, मो० अरमान,अशरफ हुसैन, एशु कश्यप, फैसल, अल्फाज़, मो० शाद, मो० फहद आदि एवं छात्रा अफीफा, नूरीन कौसर, सफिया अन्सारी, तूबा, सबा कौसर, कह्कशा बानो, अल्शिफा बानो, फातिमा जोहरा, इक़रा बानो, समरीन बानो आदि द्वारा बाखूबी प्रस्तुत किया गया। प्रबंधक मो० शुऐब ने सभी छात्र छात्राओं को गणतंत्र दिवस एवं शिक्षा की मह्त्वता का पाठ पढ़ाया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में गफ्फार अहमद शामिल हुए। वरिष्ठ अध्यापक त्रिवेनी प्रसाद मिश्रा ने गणतंत्र दिवस पर अपना वक्तव्य दिया। कार्यक्रम के दौरान लोगों ने बच्चों के अभिनय की प्रशंसा की और उनकी प्रतिभा को सराहा। इस मौके पर हाजी मो० जुनैद अन्सारी, रऊफ अहमद, मो० उज़ैर, मो० वैश(गुडडू), अकरम फारूकी, अब्दुल क़दीर, अबुसाद, मो० अहमद, मो० हुज़ैफा, उबैद, मो० अरशद, तौसीफ अहमद सहित तमाम लोग मौजूद रहे।

Continue Reading

Gonda

विद्यालय की भूमि से अवैध कब्जा हटवाने की मांग

Published

on

By

करनैलगंज गोण्डा(ब्यूरो)। स्कूल के नाम दर्ज भूमि से अवैध कब्जा हटवाने के लिए समाधान दिवस में शिकायत हुई है।

शनिवार को स्थानीय तहसील में आयोजित संपूर्ण समाधान दिवस के दौरान ग्राम बुढ़वलिया निवासी अजय प्रताप गौतम ने उच्चधिकारी को पत्र दिया। जिसमें कहा कि ग्राम में स्थित कंपोजिट विद्यालय की भूमि गाटा सं. 285 पर गांव के ही अब्दुल समद, सद्दाम, सिरजात व अन्य ने अवैध कब्जा कर रखा है। जिससे विद्यालय के बच्चों को खेलने के लिए कोई भी स्थान नहीं बचा है। आरोप है उक्त प्रकरण में कई बार शिकायत की गई, लेकिन कोई भी कार्यवाही नहीं की गई है। निष्पक्ष जांच कराकर अतिक्रमण हटवाने की मांग की है।

Continue Reading

Gonda

कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय की बच्चियों को क्या नहीं लगती ठंड?

Published

on

By

कड़कती ठंड में ठिठुरती हैं बच्चियां, नहीं कोई बंदोबस्त

गोण्डा(रमेश पाण्डेय)। जिलाधिकारी द्वारा कक्षा 1 से 8 तक के सभी शिक्षण संस्थाओं को बंद करने के निर्देश के बावजूद भी जिले के 17 कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय को बंद नहीं किया गया। जबकि भीषण ठंड को देखते हुए आवासीय बालिकाओं को कोई अतिरिक्त सुविधा भी मुहैया नहीं कराई गई है। विद्यालयों में न अलाव की व्यवस्था और न अतिरिक्त गर्म कपड़ों की व्यवस्था ही की गई है। मौजूदा समय में पड़ रही ठंड के चलते सभी बोर्डों के कक्षा 1 से 8 तक के विद्यालय जिलाधिकारी के निर्देश पर बंद किए जा चुके हैं। कक्षा 6 से 8 तक शिक्षा ग्रहण करने वाली कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय की छात्राओं को अवकाश नहीं दिया गया है। जबकि ठंड के प्रकोप को देखते हुए विद्यालयों में छात्राओं की संख्या भी कम है फिर भी विद्यालयों में इस भीषण ठंड के बावजूद उन्हें शिक्षण कार्य करना पड़ रहा है। विभागीय जानकारों की माने तो सभी कस्तूरबा विद्यालयों में ठंड से निपटने के लिए कोई अतिरिक्त व्यवस्था अलाव या गर्म कपड़ों, कंबल, बिछाने के लिए गर्म चादर आदि की भी व्यवस्था नहीं कराई गई है फिर भी विद्यालय को खोल रखा गया है।

Continue Reading

Trending

Copyright © 2020 nirvantimes.com , powered by ip digital