Connect with us

Jaunpur

जौनपुर। मोहम्मद हसन पीजी कालेज में व्यापक स्तर पर चला अनमय बचाओ अभियान!

Published

on

️हिमांशू श्रीवास्तव…

जौनपुर। अनमय बचाओ अभियान के अंतर्गत आज जनपद के मुहम्मद हसन पीजी कालेज व इण्टर कालेज में व्यापक रूप से अभियान चलाया गया। अभियान सुबह 8 बजे से प्रारम्भ होकर शाम 4 बजे तक चला। अभियान की अगुवाई करते हुए विकास तिवारी ने सर्वप्रथम महाविद्यालय व इण्टर कालेज के प्रबन्धक अब्दुल कादिर खान के सहयोग से मुहम्मद हसन इण्टर कालेज की प्रत्येक कक्षाओं में जाकर बच्चो से मदद की अपील की। गौरतलब हो सुल्तानपुर जनपद का निवासी 7 माह का अनमय स्पाइनल मस्कुलर अट्रोपी टाइप 1 नामक गम्भीर बीमारी से जूझ रहा है जिसके इलाज के लिए लगभग 16 करोड़ रुपये की आवश्यकता है तमाम समाजसेवियों व निजी संस्थाओं ने अनमय मदद की एक मुहिम चला रखी है। इस क्रम में जौनपुर के युवाओ की एक टोली विकास तिवारी के तत्वाधान में हाथों में अनमय बचाओ अभियान लिखा हुआ एक बड़ा बैनर तथा एक डोनेशन बॉक्स लेकर मुहम्मद हसन इण्टर कालेज व डिग्री कालेज में व्यापक स्तर पर मदद का अभियान चलाया। जहा मौजूद छात्रो में अनमय को बचाने के लिये पैसे देने का जबरदस्त जुनून देखने को मिला तथा बच्चे यह कहते हुए सुने गए कि मम्मी और पापा से कहकर अनमय की जान बचाने के लिए हम लोगो का ढेर सारा पैसा अनमय के खाते में भेजना है। महाविद्यालय के छात्र छात्राये भी भारी संख्या में अब अनमय बचाओ पोस्टर पर लगे बारकोड को स्कैन करके अपने खाते से अनमग के इलाज के लिए पैसे भेजे।
अनमय बचाओ अभियान मुहिम का नेतृत्व कर रहे विकास तिवारी ने कहा कि मुहम्मद हसन पीजी कालेज के प्रबंधक डॉ अब्दुल कादिर खान को मैं धन्यवाद देना चाहूंगा जिन्होंने स्वयं दूरभाष पर सम्पर्क करके अनमय बचाओ अभियान से जुड़े सदस्यों को अपने महाविद्यालय के छात्र छत्राओं के बीच उपस्थित होकर अपील करने के लिए आमंत्रित किया। जहां महाविद्यालय के छात्र छात्राओं ने इस अभियान को और अधिक ताकत देने का संकल्प लिया।
छात्र छत्राओं को सम्बोधित करते हुए अतुल सिंह ने कहा कि मात्र एक सप्ताह के अथक प्रयासों से हम सभी ने मदद के लिए लगभग 1 करोड़ की धनराशि इकट्ठा कर ली है बाकी की धनराशि को इकट्ठा करने के लिए हमे अपने प्रयासों को सोलह गुना और अधिक बढ़ाकर जन जन को जागरूक करते हुए जनपद के हर घर से मदद की गुहार लगानी होगी जिसमें खासकर छात्र अपनी अहम भूमिका निभाएंगे। उन्होंने कहा कि हम महाविद्यालय के प्रबंधक अब्दुल कादिर खान साहब का धन्यवाद ज्ञापित करते है जिन्होंने इस मुहिम में हमारे साथ जुड़ने की पेशकश की और खुद भी अर्थदान का भरोसा दिया।
इस अवसर पर डॉ अब्बासी ने कहा कि हम सभी जीजान से अनमय की मदद में लगे हुए है और हमारा लक्ष्य है कि प्रत्येक दिन जनपद के अन्य और महाविद्यालयों में जाकर इस मुहिम को गति देने का काम करेंगे। उन्होंने कहा कि नूरुद्दीन महिला महाविद्यालय में विगत दिनों से यह मुहिम चलाई जा रही है जहां अधिक संख्या में छात्र व छत्राओं ने मदद के लिए अर्थदान भी दिया है।
उपरोक्त अवसर पर विकास तिवारी, अतुल सिंह, डॉ अब्बासी, अवनींद्र यादव, तुषार श्रीवास्तव, दिव्यप्रकाश सिंह, डॉ अजय विक्रम सिंह, अभय राज, निर्भय सिंह, रामबचन यादव, अभिषेक यादव, कुलदीप, सोनू समेत इत्यादि लोग उपस्थित रहे।

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Ambala

मेघनाथ पराक्रम, लक्ष्मण शक्ति एवं कुंभकरण वध का मंचन हुआ

Published

on

By

करनैलगंज गोण्डा(ब्यूरो)। नगर की प्रसिद्ध रामलीला मंचन में रविवार को मेघनाथ पराक्रम, लक्ष्मण शक्ति एवं कुंभकरण वध की लीला का सजीव मंचन किया गया। लगातार रामलीला का मंचन देखने के लिए भीड़ बढ़ रही है। रविवार की लीला में मेघनाथ मायावी रथ पर आरूढ़ होकर अपने दल बल के साथ रामादल पर आक्रमण कर देता है। हनुमान, सुग्रीव, जामवंत व श्रीराम से युद्ध के बाद लक्ष्मण व मेघनाथ में घनघोर युद्ध होने लगता है। लक्ष्मण के बाणों से तिलमिला उठता है। अंत में उसने ब्रह्मा द्वारा प्राप्त शक्ति बाण का संधान किया। जिसके प्रहार से लक्ष्मण जी मूर्छित हो जाते है। फिर उनके राक्षसी सेना लक्ष्मण जी के शरीर को उठाने का प्रयास करती है इतने में हनुमान जी पहुंच जाते है और सारे राक्षसों को मार के भगा देते है और लक्ष्मण को मूर्छित अवस्था में श्रीराम के पास ले आते है। श्रीराम विलाप करने लगते है तभी विभीषण के परामर्श से हनुमान लंका जाते है और सुषेन वैध को उठाकर ले आते है। वैध के बताए अनुसार हनुमान जी द्रोरदागिरी पर्वत को प्रस्थान करते है तथा संजीवनी बूटी न खोज पाने के कारण पूरे पर्वत को उठाकर आकाश मार्ग से चल देते है। अवध क्षेत्र से गुजरते हुए भरत जी देखते है और बाण चला देते है, जिसके कारण हनुमान जी पर्वत सहित भूमि पर आ जाते है। भरत जी और हनुमान जी में वार्ता होती है तथा यह बताते है की यदि रात बीत गई तो संजीवनी का प्रभाव नही रह जायेगा और लक्ष्मण जी के प्राण बचाना मुश्किल हो जायेगा। अविलंब भरत से विदा होने के बाद हनुमान जी रमाद्ल में आ जाते है सुषेण वैध संजीवनी बूटी द्वारा औषधि तैयार करके लक्ष्मण को पिलाते है औषधि के प्रभाव लक्ष्मण जी चैतन्य अवस्था में आ जाते है सारे रामादल में प्रसन्नता को लहर छा जाती है। उधर रावण यह समाचार पाकर कुंभकरण को जगाने जाता है काफी प्रयास के बाद उसके उठने पर उसे मांस मंदिरा का सेवन कराया जाता है। फिर रावण सारी बाते बताता है कुंभकरण रावण को समझता है कि सीता जगदम्बा है उनका हरण करके तुमने अच्छा नही किया मां सीता कालरात्रि स्वरूपा है। इसलिए बैर व संघर्ष न करो सीता को वापस कर दो, तब रावण कुंभकरण पर क्रोधित होता है। भाई को उलहाना देता है अंत में कुंभकरण युद्ध के लिए प्रस्थान करता है। श्री राम में घनघोर युद्ध होता है राम के बाणों से उसका मस्तक कट जाता है वह वीरगति को प्राप्त होता है लंका में शोक व्याप्त हो जाता है। जिसमें रावण का अभिनय अभिषेक जायसवाल, मेघनाथ का अभिनय अनुज जायसवाल, कुम्भकरण का अभिनय विकास जायसवाल ने किया। लीला के लेखक व निर्देशक श्री भगवान साह तथा संचालक पंडित राम चरित्र मिश्र महाराज ने किया। मैदान में कन्हैया लाल वर्मा, नीरज जायसवाल, विमलेंद्र जायसवाल, कमलेश सोनी , आजाद कसेरा, अंसु, अंकित जायसवाल, अनूप गोस्वामी रहे।

Continue Reading

Jaunpur

जौनपुर। अनमय के इलाज को विधायक ने दी एक लाख की सहायता राशि

Published

on

By

️हिमांशू श्रीवास्तव..

जौनपुर। जिले की सीमा पर सुल्तानपुर जनपद में स्थित विजेथुआ राजापुर गांव निवासी अनमय सिंह के इलाज हेतु शाहगंज विधायक रमेश सिंह ने बुधवार की देर शाम अपने पास से एक लाख एक हजार रुपए की सहायता राशि सौंपी।

अनमय की उम्र अभी महज सात माह है। वह एसएमए टाइप-1 नामक दुर्लभ व घातक बीमारी से पीड़ित है। यह एक आनुवंशिक बीमारी है। कथित तौर पर जिसके इलाज में अमेरिका से आयातित एक इंजेक्शन लगता है, जिसकी कीमत सोलह करोड़ रुपए है। किसी भी सामान्य व्यक्ति के लिए इतनी बड़ी धनराशि की व्यवस्था कर पाना नामुमकिन है। उक्त अबोध के इलाज के लिए श्री सिंह ने बुधवार देर रात सुल्तानपुर जिला मुख्यालय स्थित पीड़ित के आवास पर जाकर उसके स्वजनों को चेक सौंपा।

Continue Reading

Jaunpur

जौनपुर : दरोगा कहा की पंडित साले चंदन लगाकर देश खा गए  

Published

on

By

बदलापुर/जौनपुर।

कोतवाली बदलापुर में तैनात कोतवाल ने कहा की पंडित साले चंदन लगाकर देश खा गए, मछलीगांव निवासी नन्हे शुक्ला ने वीडियो वायरल कर थाना प्रभारी बदलापुर योगेंद्र सिंह पर आरोप लगाया है की हमारे पड़ोसी  से  पुराना विवाद चल है,दिनांक 8 अगस्त  को एक पंचायत के दौरान दोनों पक्ष में वाद विवाद हो गया था, विवाद के बाद पड़ोसी ने थाना बदलापुर में हमारे खिलाफ गाली गलौज  व  जान से मारने की धमकी देने का मुकदमा दर्ज करवा दिया था, थाना प्रभारी  के बुलाने पर मै कोतवाल योगेंद्र सिंह मिलने थाने पर गया,थाना प्रभारी मुझे देखते ही आग बबूला होकर कहा की साले तुम चंदन लगाते हो जब मै अपनी बात कहना चाहा तो गाली देते  हुए कहे  की पंडित साले चंदन लगाकर देश खा  गए सपा सरकार में इन पंडितो का चंदन नहीं दिखाई दे रहा था ,ये साला बहुत बड़ा पंडित बनता है बैठाओ साले को,इसके बाद शाम को एकपक्षीय चलान कर दिए. थाना प्रभारी के द्वारा चन्दन लगाने पर ब्रम्हाण को  गाली देने के  मामले का वीडियो वायरल होते ही प्रकरण  विभिन्न  ब्रम्हाण संघटनो के जानकारी में आते ही हड़कंप मच गया, ब्राम्हण विरोधी  मानसिकता के दरोगा योगेंद्र सिंह के खिलाफ क्षेत्र के ब्रम्हाणो में आक्रोश व्याप्त हो गया है l

Continue Reading

Trending

Copyright © 2020 nirvantimes.com , powered by ip digital