Connect with us

SITAPUR

मुख्य सचिव के आदेश को नहीं मानता मिश्रिख का पूर्ति विभाग!

Published

on

गरीबों के कट गए राशन कार्ड कैसे मिलेगा नि:शुल्क राशन!

विकास खंड पिसावां के ग्राम पंचायत हरनी गांव का मामला!

सीतापुर।उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्य सचिव ने लॉक डाउन से प्रभावित हुए लोगों के राशन कार्ड अभियान चलाकर शीघ्र ही जारी कराने के लिए आदेश जारी किया है लेकिन जनपद के मिश्रिख पूर्ति निरीक्षक उनके आदेश की जमकर धज्जियां उड़ा रहे हैं और उनके आदेश को नहीं मानते हैं।ऐसा ही मामला विकासखंड पिसावां क्षेत्र की ग्राम पंचायत हरनी गांव से देखने को मिला है जहां राशन कार्ड जारी कराने के लिए 3 माह से ग्रामीण पूर्ति विभाग के चक्कर लगा रहे हैं।विभाग के अधिकारी अरुण कुमार ने बताया है कि पिसावां ब्लाक की ग्राम सभा हरनी हमारे विभाग से सम्मिलित नहीं है।यदि गांव सम्मिलित नहीं है तो ग्रामीणों के कागज विभाग में क्यों जमा कराए गए हैं यह बड़ा सवाल खड़ा हो रहा है।एक तरफ जहां वैश्विक महामारी कोरोना जैसी विकराल महामारी देश में चल रही है वहीं दूसरी तरफ गरीबों के निवाले पर अधिकारियों की नजर टेढ़ी हो गई है जिसके कारण गरीबों के राशन कार्ड बिना किसी जांच के कटते जा रहे हैं और यूनिट भी कटते जा रहे हैं लेकिन आवेदन करने के बाद भी उनके ना तो राशन कार्ड जारी हुए हैं और ना ही यूनिट बढ़ाए गए हैं ऐसे में महामारी के चलते गरीबों को कैसे नि:शुल्क राशन मिलेगा यह सवाल बना हुआ है।विकास खंड पिसावां क्षेत्र की ग्राम पंचायत हरनी गांव में गरीबों के राशन कार्ड कट गए हैं और राशन कार्ड जारी कराने के लिए ग्रामीण 3 माह से मिश्रिख के पूर्ति विभाग में चक्कर लगाने पर मजबूर हो रहे हैं।सभी ने ऑनलाइन राशन कार्ड के लिए पुनः आवेदन किया है उसके बाद भी उनके राशन कार्ड जारी नहीं हो पा रहे हैं और न ही उनके यूनिट बढ़ रहे हैं।एक तरफ जहां महामारी कोरोना ने देश भर में भारी तबाही मचा दी है वहीं पूर्ति निरीक्षक मिश्रिख की लापरवाही गरीबों पर भारी पड़ती जा रही है।गरीबों का कहना है कि करीब 3 माह से वह लोग मिश्रिख पूर्ति विभाग के चक्कर लगा रहे हैं लेकिन उनके राशन कार्ड जारी नहीं किए जा रहे हैं।इस मामले पर जब पूर्ति विभाग के अधिकारी अरुण कुमार से बात की गई तो उनका कहना है कि पिसावां ब्लाक हमारे विभाग में अटेच नही है जिसके कारण राशन कार्ड जारी नहीं हो पाए हैं वहीं विभाग के अधिकारी सुमित यादव के द्वारा ग्रामीणों के सभी दस्तावेज लिए जा चुके हैं।अगर पूर्ति विभाग में पिसावां ब्लाक का हरनी गांव यदि यहां से सम्मिलित नहीं है तो ग्रामीणों के सभी ऑनलाइन दस्तावेज क्यों जमा किये गए हैं।आपको बता दें कि आवेदक राजेश्वरी देवी पत्नी इंद्र विक्रम सिंह का राशन कार्ड 215441725059 चल रहा था जो किसी कारण से कट गया है लेकिन उसको जारी कराने के लिए 3 माह से लगातार मिश्रित पूर्ति विभाग के चक्कर पीड़ित लगा रहे हैं लेकिन उनका राशन कार्ड जारी नहीं हो रहा है।पीड़ित का कहना है कि सभी प्रक्रिया पूर्ण करके विभाग के अधिकारी को दस्तावेज दिए जा चुके हैं लेकिन अधिकारी का कहना है कि लाकडाउन चल रहा है इसलिए राशन कार्ड जारी नहीं हो पाया है।लॉकडाउन खुलते ही राशन कार्ड जारी किया जाएगा।लेकिन यूपी के मुख्य सचिव ने जो आदेश जारी किया है उसमें कहा गया है कि गरीबों को शीघ्र ही 3 महीने का नि:शुल्क राशन उपलब्ध कराया जाए और जिनके राशन कार्ड जारी नहीं है उनके राशन कार्ड अभियान चलाकर शीघ्र जारी किए जाएं और उनको सरकार द्वारा शीघ्र ही पीडीएस सिस्टम की योजना के तहत लाभ दिलाया जाए।लेकिन यहां पर सबसे बड़ा सवाल यह है कि आखिर ऐसे कैसे गरीबों को लाभ मिल पाएगा जहां अधिकारी ही लापरवाही कर रहे हो।वहीं दूसरी तरफ इसी ग्राम पंचायत की लाभार्थी मुन्नी देवी पत्नी महा सिंह का राशन कार्ड 215441725067 से उनके बेटे कुलदीप सिंह और पति महा सिंह का यूनिट कट गया है।यूनिट बढ़वाने के लिए उनके द्वारा ऑनलाइन आवेदन करके मिश्रिख के पूर्ति निरीक्षक कार्यालय में दस्तावेज जमा किए 2 महीने हो गए हैं फिर भी उनका यूनिट नहीं बढ़ा है जिससे वह भी राशन पाने से वंचित हो रहे हैं।

इस संबंध में जब मिश्रिख के विभागीय अधिकारी अरुण कुमार से बात की गई तो उन्होंने बताया कि 2 माह से आचार संहिता लगी हुई थी इसलिए राशन कार्ड जारी नहीं हुए हैं और पिसावां ब्लाक का हरनी गाँव हमारे यहाँ सम्मिलित नहीं है वहीं जिला पूर्ति अधिकारी के कार्यालय में हिरेन्द्र तिवरी से जब बात की गई तो उन्होंने बताया कि कल फोन करके अवगत कराना फिर इसके लिए मिश्रिख के पूर्ति विभाग को फोन करके पूछताछ करता हूँ।

मिश्रिख में पूर्ति विभाग के अधिकारी सुमित यादव से जब उपभोक्ताओं द्वारा वार्ता की गई तो उन्होंने बताया जो भी राशन कार्ड अभी तक नहीं बन पाए हैं और यूनिट नहीं बढ़े हैं उनके कार्ड शीघ्र ही जारी हो जाएंगे और सभी को अगले माह में राशन उपलब्ध कराया जाएगा,राशन कार्डों को जारी करने का काम लगातार विभाग द्वारा जारी है।

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Ambala

मेघनाथ पराक्रम, लक्ष्मण शक्ति एवं कुंभकरण वध का मंचन हुआ

Published

on

By

करनैलगंज गोण्डा(ब्यूरो)। नगर की प्रसिद्ध रामलीला मंचन में रविवार को मेघनाथ पराक्रम, लक्ष्मण शक्ति एवं कुंभकरण वध की लीला का सजीव मंचन किया गया। लगातार रामलीला का मंचन देखने के लिए भीड़ बढ़ रही है। रविवार की लीला में मेघनाथ मायावी रथ पर आरूढ़ होकर अपने दल बल के साथ रामादल पर आक्रमण कर देता है। हनुमान, सुग्रीव, जामवंत व श्रीराम से युद्ध के बाद लक्ष्मण व मेघनाथ में घनघोर युद्ध होने लगता है। लक्ष्मण के बाणों से तिलमिला उठता है। अंत में उसने ब्रह्मा द्वारा प्राप्त शक्ति बाण का संधान किया। जिसके प्रहार से लक्ष्मण जी मूर्छित हो जाते है। फिर उनके राक्षसी सेना लक्ष्मण जी के शरीर को उठाने का प्रयास करती है इतने में हनुमान जी पहुंच जाते है और सारे राक्षसों को मार के भगा देते है और लक्ष्मण को मूर्छित अवस्था में श्रीराम के पास ले आते है। श्रीराम विलाप करने लगते है तभी विभीषण के परामर्श से हनुमान लंका जाते है और सुषेन वैध को उठाकर ले आते है। वैध के बताए अनुसार हनुमान जी द्रोरदागिरी पर्वत को प्रस्थान करते है तथा संजीवनी बूटी न खोज पाने के कारण पूरे पर्वत को उठाकर आकाश मार्ग से चल देते है। अवध क्षेत्र से गुजरते हुए भरत जी देखते है और बाण चला देते है, जिसके कारण हनुमान जी पर्वत सहित भूमि पर आ जाते है। भरत जी और हनुमान जी में वार्ता होती है तथा यह बताते है की यदि रात बीत गई तो संजीवनी का प्रभाव नही रह जायेगा और लक्ष्मण जी के प्राण बचाना मुश्किल हो जायेगा। अविलंब भरत से विदा होने के बाद हनुमान जी रमाद्ल में आ जाते है सुषेण वैध संजीवनी बूटी द्वारा औषधि तैयार करके लक्ष्मण को पिलाते है औषधि के प्रभाव लक्ष्मण जी चैतन्य अवस्था में आ जाते है सारे रामादल में प्रसन्नता को लहर छा जाती है। उधर रावण यह समाचार पाकर कुंभकरण को जगाने जाता है काफी प्रयास के बाद उसके उठने पर उसे मांस मंदिरा का सेवन कराया जाता है। फिर रावण सारी बाते बताता है कुंभकरण रावण को समझता है कि सीता जगदम्बा है उनका हरण करके तुमने अच्छा नही किया मां सीता कालरात्रि स्वरूपा है। इसलिए बैर व संघर्ष न करो सीता को वापस कर दो, तब रावण कुंभकरण पर क्रोधित होता है। भाई को उलहाना देता है अंत में कुंभकरण युद्ध के लिए प्रस्थान करता है। श्री राम में घनघोर युद्ध होता है राम के बाणों से उसका मस्तक कट जाता है वह वीरगति को प्राप्त होता है लंका में शोक व्याप्त हो जाता है। जिसमें रावण का अभिनय अभिषेक जायसवाल, मेघनाथ का अभिनय अनुज जायसवाल, कुम्भकरण का अभिनय विकास जायसवाल ने किया। लीला के लेखक व निर्देशक श्री भगवान साह तथा संचालक पंडित राम चरित्र मिश्र महाराज ने किया। मैदान में कन्हैया लाल वर्मा, नीरज जायसवाल, विमलेंद्र जायसवाल, कमलेश सोनी , आजाद कसेरा, अंसु, अंकित जायसवाल, अनूप गोस्वामी रहे।

Continue Reading

SITAPUR

टूर्नामेंट के सेमीफाइनल मैच में मेजबान रिखौना ने मारी बाज़ी

Published

on

By

निर्वाण टाइम्स
झरेखापुर सीतापुर(संवाद)। विकास खण्ड परसेंडी क्षेत्र के अंतर्गत रिखौना गांव में रिखौना प्रीमियर लीग का प्रथम सीज़न 6 मई से 10-10 ओवर का चल रहा है। चल रहे टूर्नामेंट में शुक्रवार को सेमीफाइनल मैच का आयोजन हुआ। सेमीफाइनल मैच सीतापुर सोनम की टीम व रिखौना प्रथम अंसारु की टीम के मध्य हुआ। टॉस जीत कर रिखौना प्रथम ने पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया। रिखौना प्रथम के बल्लेबाजों ने सेमीफाइनल मैच में जौहर दिखाये और ताबड़तोड़ बल्लेबाज़ी करते हुए 10 ओवर में 06 विकेट खो कर 117 रन का पहाड़ जैसा स्कोर खड़ा किया जो विपक्षी सीतापुर सोनम की टीम के बल्लेबाज पहाड़ जैसे स्कोर के अरीब करीब भी न भटक सके एक एक कर मात्र 60 रनों पर ही बिखर गए। रिखौना प्रथम ने चल रहे टूर्नामेंट में तीसरी बार ऐसा हुआ है जो किसी टीम को बड़े अंतराल से हराया है। इस जीत में रिखौना प्रथम की तरफ से प्रिंस कैफू ने आल राउंडर प्रदर्शन कर मैन ऑफ दी मैच का खिताब अपने नाम किया है। रिखौना प्रथम की जीत से दर्शक खासा उत्साहित दिखे इस जीत से खिलाड़ियों में काफी उत्साह है। वही रिखौना प्रथम टीम की अगुवाई कर रहे अंसारु ने जीत का श्रेय खिलाड़ियों को देते हुए कहा हमारे सभी खिलाड़ियों ने एक टीम हो कर टूर्नामेंट के सभी मैचों में जान लड़ा कर खेला है और जीते भी है मुझे पूर्ण विश्वास है की फाइनल में भी सभी अच्छा प्रदर्शन कर फाइनल हम लोग ही जीतेंगे।
टूर्नामेंट का फाइनल मैच रविवार को होगा। फाइनल मैच रिखौना प्रथम अंसारु की टीम व रिखौना रफ़ीक़ की टीम के मध्य होगा।

Continue Reading

SITAPUR

प्रधान का सफाईकर्मी को अभद्र गालियां देने का आडियो हुआ वायरल

Published

on

By

निर्वाण टाइम्स
संदना सीतापुर(चंद्रभान सिंह)। संदना थाना क्षेत्र अंतर्गत कमलापुर ग्राम पंचायत में कार्यरत सफाईकर्मी ईश्वरदीन ने ग्राम प्रधान पर अभद्र टिप्पणी करते हुए जान से मारने की धमकी का आरोप लगाते हुए संदना थाने में तहरीर दी गई है.
ईश्वरदीन द्वारा दी गई तहरीर के मुताबिक जब वह गांव में सफाई कार्य करने गया हुआ था. उसी दौरान ग्राम प्रधान मौके पर पहुंचे और और भद्दी गालियां देते हुए जान से मारने की धमकी दी.
जिससे मैं काम छोड़कर अपने गांव चला गया. तब ग्राम प्रधान ने फोन मिलाकर अभद्र गालियां दीं. जो उसने अपने फोन में रिकार्ड कर लीं. जिससे सहमे हुए सफाईकर्मी ने संदना थानाध्यक्ष से प्रभावी कार्रवाई कर न्याय दिलाने की मांग की है. इसके साथ ही सफाईकर्मी ईश्वरदीन ने जिला पंचायत राज अधिकारी को घटना की जानकारी लिखित रूप में दे दी है.

Continue Reading

Trending

Copyright © 2020 nirvantimes.com , powered by ip digital