Connect with us

Mahrajganj

सूर्योपासना का महापर्व छठ सदियों पुराना

Published

on

महराजगंज/लक्ष्मीपुर(बिजय कसौधन)।जब विश्व की सबसे प्राचीन सभ्यता की स्त्रियां अपने सम्पूर्ण वैभव के साथ सज-धज कर अपने आँचल में फल ले कर निकलती हैं तो लगता है जैसे संस्कृति स्वयं समय को चुनौती देती हुई कह रही हो, "देखो! तुम्हारे असँख्य झंझावातों को सहन करने के बाद भी हमारा वैभव कम नहीं हुआ है, हम सनातन हैं, हम भारत हैं। हम तबसे हैं जबसे तुम हो, और जबतक तुम रहोगे तबतक हम भी रहेंगे।" जब घुटने भर जल में खड़ी व्रती की सिपुलि में बालक सूर्य की किरणें उतरती हैं तो लगता है जैसे स्वयं सूर्य बालक बन कर उसकी गोद में खेलने उतरे हैं। स्त्री का सबसे भव्य, सबसे वैभवशाली स्वरूप वही है। इस धरा को "भारत माता" कहने वाले बुजुर्ग के मन में स्त्री का यही स्वरूप रहा होगा। कभी ध्यान से देखिएगा छठ के दिन जल में खड़े हो कर सूर्य को अर्घ दे रही किसी स्त्री को, आपके मन में मोह नहीं श्रद्धा उपजेगी। छठ वह प्राचीन पर्व है जिसमें राजा और रंक एक घाट पर माथा टेकते हैं, एक देवता को अर्घ देते हैं, और एक बराबर आशीर्वाद पाते हैं। धन और पद का लोभ मनुष्य को मनुष्य से दूर करता है, पर धर्म उन्हें साथ लाता है। अपने धर्म के साथ होने का सबसे बड़ा लाभ यह होता है कि आप अपने समस्त पुरुखों के आशीर्वाद की छाया में होते हैं। छठ के दिन नाक से माथे तक सिंदूर लगा कर घाट पर बैठी स्त्री अपनी हजारों पीढ़ी की अजियासास ननियासास की छाया में होती है, बल्कि वह उन्ही का स्वरूप होती है। उसके दउरे में केवल फल नहीं होते, समूची प्रकृति होती है। वह एक सामान्य स्त्री सी नहीं, अन्नपूर्णा सी दिखाई देती है। ध्यान से देखिये! आपको उनमें कौशल्या दिखेंगी, उनमें मैत्रेयी दिखेगी, उनमें सीता दिखेगी, उनमें अनुसुइया दिखेगी, सावित्री दिखेगी... उनमें पद्मावती दिखेगी, उनमें लक्ष्मीबाई दिखेगी, उनमें भारत माता दिखेगी। इसमें कोई संदेह नहीं कि उनके आँचल में बंध कर ही यह सभ्यता अगले हजारों वर्षों का सफर तय कर लेगी। छठ डूबते सूर्य की आराधना का पर्व है। डूबता सूर्य इतिहास होता है, और कोई भी सभ्यता तभी दीर्घजीवी होती है जब वह अपने इतिहास को पूजे। अपने इतिहास के समस्त योद्धाओं को पूजे और इतिहास में अपने विरुद्ध हुए सारे आक्रमणों और षड्यंत्रों को याद रखे। छठ उगते सूर्य की आराधना का पर्व है। उगता सूर्य भविष्य होता है, और किसी भी सभ्यता के यशश्वी होने के लिए आवश्यक है कि वह अपने भविष्य को पूजा जैसी श्रद्धा और निष्ठा से सँवारे... हमारी आज की पीढ़ी यही करने में चूक रही है, पर उसे यह करना ही होगा... यही छठ व्रत का मूल भाव है। मैं खुश होता हूँ घाट जाती स्त्रियों को देख कर, मैं खुश होता हूँ उनके लिए राह बुहारते पुरुषों को देख कर, मैं खुश होता हूँ उत्साह से लबरेज बच्चों को देख कर... सच पूछिए तो यह मेरी खुशी नहीं, मेरी मिट्टी, मेरे देश, मेरी सभ्यता की खुशी है। मेरे देश की माताओं! जब आदित्य आपकी सिपुलि में उतरें, तो उनसे कहिएगा कि इस देश, इस संस्कृति पर अपनी कृपा बनाये रखें, ताकि हजारों वर्ष बाद भी हमारी पुत्रवधुएँ यूँ ही सज-धज कर गंगा के जल में खड़ी हों और कहें- "उगआ हो सुरुज देव, भइले अरघ के बेर

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Mahrajganj

तबादला एक्सप्रेस महराजगंज : एसपी ने यातयात की कमान सौंपी गुलाब यादव के हाथ , हरि यादव संभालेंगे 112 की कमान

Published

on

By

Continue Reading

Mahrajganj

विकास खण्ड पनियरा के चार विद्यालय ब्लाक प्रमुख के प्रयास से पी०एम० श्री योजना में चयनित

Published

on

By

पनियरा।
पनियरा प्रमुख अध्यक्ष प्रमुख संघ महराजगंज वेदप्रकाश शुक्ल ने अपने बयान में अवगत कराया है कि विकास खण्ड पनियरा के विद्यालय मुड़िला चौधरी, उस्का, मुजुरी और राजकीय इण्टर कालेज पनियरा को पी०एम० श्री ( प्रधानमंत्री श्री ) योजना में चयनित किया गया है, इस योजना के चयन के बाद केन्द्रीय टीम द्वारा निरीक्षण किया जाना है तथा सभी मानकों को पूर्ण करने की दशा में इन विद्यालयों को विकास एवं आश्रम पद्धति विद्यालय के रूप में विकसित करने के लिए तथा सर्वसम्पन्न बनाने व उच्चीकृत करने के कार्य हेतु धनराशि भारत सरकार द्वारा आवंटित होगी। मिली जानकारी के अनुसार, ब्लाक प्रमुख पनियरा वेद प्रकाश शुक्ल शुक्ल ने राजकीय इण्टर कालेज पनियरा के छात्र रहे है, तथा उस्का से वर्तमान में क्षेत्र पंचायत सदस्य है जबसे ब्लाक प्रमुख बने है पूरे क्षेत्र के विकास को लेकर प्रयासरत रहते है।इस सम्बन्ध में हुई बैठक में खंड शिक्षा अधिकारी श्रीमती गरिमा यादव एवं राजकीय इण्टर कालेज पनियरा के प्रधानाचार्य रामज्ञा प्रसाद आदि अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे।इस चयन से क्षेत्रवासियों में खुशी की लहर व्याप्त है तथा सभी ने बधाई दी है।

Continue Reading

Mahrajganj

पुलिस बनकर ठगी करने वाले गिरोह का नौतनवां पुलिस ने किया पर्दाफाश एक गिरफ्तार

Published

on

By

महराजगंज(शैलेश पाण्डेय)।
प्रदेश के अनेक जगहों पर नेपाली सोना सस्ते में बेचने के नाम पर ठगी करने वाले एक गिरोह का जिले की नौतनवा पुलिस एवं स्वाट टीम ने संयुक्त कार्रवाई करके 3 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने इनके पास से नगदी एवं फर्जी पुलिस आई कार्ड भी बरामद किया है।पुलिस प्राप्त जानकारी के अनुसार पकड़े गए गिरोह के सदस्य अलग अलग ज़िलों में लोगों से संपर्क करते थे और उन्हें कम दाम में नेपाली सोना बेचने की पेशकश करते थे।इसी दौरान गिरोह के सदस्य पुलिस के वर्दी में मौके पर पहुंचकर रौब दिखाकर पैसे की वसूली करते थे बीते दिनो गोरखपुर निवासी दो व्यक्तियों का इस गिरोह ने ढाई लाख रूपए हड़प लिया। इसी सूचना के आधार पर पुलिस इस गिरोह की तलाश में जुट गई और नौतनवा थाना क्षेत्र स्थित रेलवे स्टेशन के समीप से इस गिरोह के तीन सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया पूछताछ में इस गिरोह के चार अन्य व्यक्तियों के नाम सामने आए हैं जिसकी तलाश में पुलिस जुटी हुई है प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए एसपी डॉ कौस्तुभ ने बताया कि पकड़े गए गिरोह के सदस्यों के खिलाफ पहले से ही विभिन्न जनपदों में कई गंभीर मुकदमा दर्ज हैं। फरार वांछित अभियुक्तों की तलाश जारी है।

Continue Reading

Trending

Copyright © 2020 nirvantimes.com , powered by ip digital